Friday, October 25, 2013

Maharashtra TET 2013 Apply Online at www.mahatet.in l MAHA TET 2013 l MSCE TET 2013

Maharashtra State Council of Examination Notified for State Teachers Eligibility Test


Maharashtra TET 2013 Apply Online at www.mahatet.in l MAHA TET 2013 l MSCE TET 2013


Maharashtra State Council of Examination has released the notification for the Maharashtra Teacher Eligibility Test 2014 by inviting online applications from the eligible candidates. Candidates those who have interest should fulfill eligible criteria to apply for the MAHA TET 2014. candidates may apply through online from the Maharashtra TET main website at www.mahatet.in by submitting prescribed online application form on before last date 11/11/2013. The Admit Card for the Maharashtra TET 2014 will be issued from 26th November, 2013 to 14th December, 2013 and the Maharashtra Teacher Eligibility Test 2014 will be held on 15th December, 2013. More details are mentioned below.

Maharashtra State Council of  Examination invited application for Maharashtra State Teachers Eligibility Test 2013 for the appointing eligible candidates as primary teacher. The candidates eligible for the post can apply through prescribed format before 11 November 2013.

Important Date
• Start Date for Online Registration through MAHATET website: 20 October 2013
• Closing Date for Online Registration: 11 November 2013
• Last Date for Fees Payment in Bank: 11 November 2013
• Last date for Receipt of Confirmation Page at District Education Office: 20 October 2013 to 15 November 2013
• Date of Downloading Admit Card: 26 November 2013 to 14 December 2013
• Date of Examination: 15 December 2013

Qualifying Marks :-
Candidates those who score 60 percent or more in the TET examination will be considered as TET pass.
Candidates those who belong to SC,ST,VJ,NT,OBC, differently abled persons, score 55 percent or more in the TET examination will be considered as TET pass.

Maharashtra Teacher Eligibility Test ?
Maharashtra Teacher Eligibility Test which is an eligibility test conducted by MSCE. There will be two papers. Paper 1  will be held for Primary teacher (first class to fifth class) and Paper 2 will be conducted for upper primary teacher selection.

Educational Qualification :-
Teachers of classes I - V (Paper-1) : Intermediate / Class 12th with at least of 45% marks / 4 years full time Bachelor of elementary education / 2 years full time Diploma in education or elementary education / BA/ B.Sc with at least 50 percent marks and B.Ed from recognized university.

Teachers of classes VI - VII (paper-2) : Graduation degree of B.A / B.Sc and 2 years full time D.Ed with minimum 45 %  marks OR B.Ed OR 4-year BA/ B.Sc.Ed. OR B.A. (Ed.)/B.Sc. (Ed.) / B.Ed. (Special Education) with 50 % marks.



Post Name: Primary Teacher
Post Name: Upper Primary Teacher
Application Fee
Category
Only Paper I or Only Paper II 
Paper I and Paper II both
For Open, OBC, SBC and VJNTRs.500/-Rs.800/-
SC, ST and Differently abled personRs. 250/-Rs. 400/-




For more information check the below link.




Help Desk :-
Call : 7774012451, 7774012452
Hours : 9.00AM to 9.00PM 

Address: -
The Commissioner(MSCE), Maharashtra State Council of Examinations,
17, Dr. Ambedkar Road,
Pune-411 001

Phone: 020-26123066
Fax: 020-26129919
E-mail: mscepune@gmail.com
Website : http://mahatet.in/

Fees Structure :
Catagory : Open, OBC, SBC and VJNT
Only Paper I or Only Paper II : Rs.500/-
Paper I and Paper II both : Rs.800/-
Catagory : SC, ST and Differently abled person
Only Paper I or Only Paper II : Rs. 250/-
Paper I and Paper II both : Rs. 400/-
Important Date :
1 Advertisement 17.10.2013 to 19.10.2013
2 Online Submission of application through MAHATET website mahatet.in 20.10.2013 to 11.11.2013
3 Last date for Receipt of Confirmation Page at District Education Office 20.10.2013 to 15.11.2013
4 Check Application status and Candidate particulars on website 20.10.2013 to 17.11.2013
5 Download Admit Card 26.11.2013 to 14.12.2013
6 Examination 15.12.2013


Instructions :
Application for enrolment is to be done in 5 Stages as named below for Maharashtra State Teachers Eligibility Test.
1. Registration
2. Photo and Signature Upload
3. Review and Challan Print
4. Fees Payment and Update Challan
5. Print Confirmation Page and Submit to DEO

Incoming search results
Maharashtra TET
MSCE TET Online application
MAHA TET Online application
Apply online for MAHA TET
Maharashtra State Council of Examination TET
Maharashtra Teacher Eligibility Test
Maharashtra TET
Maharashtra Teacher Eligibility Test Online
MHTET Apply Online 

20 comments:

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

पत्रकार (मोदी जी से)- मोदी जी गुजरात में आपने जितने
भी आतंकवादी मारे या पकड़े उनमें से 90% मुसलमान थे,
तो क्या इससे ये साबित नहीं होता कि आप मुस्लिम
विरोधी हैं ??
नरेंद्र मोदी - आपके इस सवाल का जवाब देने से पहले आपसे
एक बात पूछनी थी, बताओगे ??
पत्रकार - जी जरूर, पूछिए...
नरेंद्र मोदी - क्या आपको इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के बारे
में पता है ??
पत्रकार - जी हाँ, बिलकुल पता है, लेकिन इनकम टैक्स
डिपार्टमेंट का मेरे पूछे गए सवाल से क्या सम्बन्ध है ??
नरेंद्र मोदी - सम्बन्ध ये है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के
सारे देश में जितने भी छापे मारे जाते हैं उनमें से 90% अकेले
हिंदुओं के घर पे मारे जाते हैं, तो क्या आप मीडिया वाले
कभी ऐसा बोलते हैं कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट हिंदू
विरोधी है ??
नहीं बोलते क्योंकि आप जानते हैं कि भई जो भी गलत
करेगा फिर उसके खिलाफ कार्यवाही होगी चाहे वह हिंदू
हो या ना हो, लेकिन फिर यही सोच आतंकवाद जैसे इतने
गम्भीर मुद्दे पर आपकी क्यों नहीं होती है ?? आप
मीडिया वालों को ऐसा क्यों लगता है कि अगर गुनाह
करने वाला मुसलमान है तो उसे छोड़ देना चाहिए ??
अरे !! भई अगर मुसलमान आतंकवादी घटनाओं को अंजाम
देगा तो मुसलमान नहीं तो क्या हिंदू और सिख पकड़े जाने
चाहिये ?? ये किस तरह का सेकुलरिस्म है आपका,
जो आपको अपराधी का धर्म देखने के लिए मजबूर करता है
बजाए के अपराध देखने के ??
इसलिए असली मुस्लिम-विरोधी मैं नहीं आपके
जैसी मानसिकता वाले वे लोग और नेता हैं जो कि एक धर्म
विशेष को अपना वोट बैंक बनाए रखने के लिए उसके अंदर
मौजूद कुछ देशद्रोही तत्वों को बढ़ावा देते है, उनकी गलत
हरकतों का नए-२ तर्क देकर बचाव करते हैं और
हिन्दुस्तान की सुरक्षा व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करते
हैं

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

प्रधानमंत्री का सपना देख रहे नेताजी को विशेष
गौर से देखना होगा आखिर टेटयँस
को लठियाया क्यो जा रहा है क्या दस लाख
संख्या मे टेटयँस को लठियाने से सपा का वोटबैक
नही ध्वस्त होगा क्या ईन दस लाख टेटयँस ने
युवा हित की आशा मे सपा को वोट
नही दिया था क्या टेटयँस को लठियाने से दस
लाख परिवारो के वोट मिल पायेगे
सपा नेता अच्छी तरह सोच ले लट्ठ के दम पर वोट
नही मिलते केवल वोट तभी मिलते है जब दिलो मे
सहानुभूति प्रगट की जाय जो लट्ठ से उत्पन्न
नही हो सकती अतः नेताजी को चाहिए कोर्ट
का सम्मान करते हुए टेटमेरीट से भरती करे
तथा जो 117टेटयँस अपनी जान दे बैठे है उनके
परिवार को मुआवजा भी दे तथा गुमराह करने वाले
अधिकारियो को दण्डित भी करे अन्यथा दस लाख
परिवारो से वोट की बिल्कुल आशा न करे जय
हिन्द जयटेटमेरीट

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

खुशियाँ बटोरते बटोरते उम्र गुज़र गई .. पर हाथ कुछ न लगा !
तब जाकर ये एहसास हुआ कि .. खुश तो वो लोग हैं "जो खुशियाँ बाँट रहे थे" !!

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

अंग्रेजों ने हमें चारित्रिक रूप से, और नैतिक रूप से नीचा दिखाने के लिए, कमज़ोर बनाने के लिए, शराब के साथ एक काम और भी किया था। और उसमें भी हम भारतवासी काफी डूब गए हैं। और वह दूसरा काम यह था - भारत के वासियों को वेश्यावृत्ति के रास्ते पर धकेलना। बहुत खराब काम यह अंग्रेजों ने किया था।
आपको सुनकर ताज्जुब होगा, कि 1760 के पहले हिंदुस्तान में कोई शराब नहीं पीता था, ऐसे ही, 1760 के पहले के जो दस्तावेज़ हैं, रिकॉर्ड हैं, वे बताते हैं कि इस देश में कोई वेश्याघर नहीं था, वेश्यालय नहीं था। पूरे हिन्दुस्तान में ! ये अँगरेज़ थे जिंहोंने सबसे पहला वेश्यालय खोल सन 1760 में प्लासी के युद्ध के बाद कलकत्ते में। कलकत्ता में एक बहुत बदनाम इलाका कहा जाता है, जिसको सरकार रेड लाइट एरिया कहती है, और उसका नाम है सोनागाची। यह सोनागाची का रेड लाइट एरिया है - आपको सुनकर बहुत अफ़सोस होगा, दुःख होगा - यह अंग्रेजों का बसाया हुआ है, और अंग्रेजों का बनाया हुआ है। सन 1760 से पहले देश की किसी भी गाँव में, किसी नगर में वेश्याघर नाम की कोई भी चीज़ नहीं हुआ करती थी। तो आप बोलेंगे - मुस्लिम शासकों के ज़माने में क्या होता था? जब मुग़ल सम्राट इस देश में होते थे, मुग़ल शासक इस देश में होते थे, मुस्लिम धर्म को मानने वाले शासक इस देश में होते थे, तब क्या होता था? मुस्लिम शासकों के ज़माने में, सात सौ साल तक इस देश में, एक भी वेश्यालय नहीं बना, एक भी वेश्याघर नहीं बना। कुछ एक-दो मुस्लिम शासलों ने, जो कि अपवाद माने जाते हैं, जिनको उनके धर्म वाले भी गालियाँ देते हैं, एक ग़लत काम शुरू किया था - माताओं, बहन, बेटियों को घरों में से उठा लेना और ज़बरदस्ती उनको एक महल में रखना, उस महल का नाम हरम होता था। उस हरम में, मुस्लिम शासक अपने आमोद-प्रमोद के लिए, समय गुजारने के लिए, माताओं, बहन, बेटियों का नाच वगैरह कराया करते थे। तो, यह कुछ मुस्लिम शासकों ने किया, लेकिन वेश्यालय और वेश्याघर इस हिंदुस्तान में कभी नहीं बना।

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

आप बोलेंगे - पुराने ज़माने में तो हमारे देश में, हमने इतिहास में पढ़ा है, कुछ उपन्यास भी पढ़े हैं। हो सकता है आपने एक उपन्यास पढ़ा हो अपने जीवन में - वैशाली की नगर वधू। सम्राट अशोक के ज़माने की बात है, चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य, चन्द्रगुप्त मौर्य के ज़माने की बात है, कि नगर वधू हुआ करती थी। हाँ, उस ज़माने में नगर वधू हुआ करती थी। लेकिन उसका काम वेश्या के काम से बिलकुल अलग होता था। नगर वधु जो होती थी, वह पूरे नगर की कोई सम्मान और इज्ज़त वाली कोई मां और बहन हुआ करती थी, और नगर वधु के शरीर को कोई भी पुरुष चाहे, तो अपनी वासना का शिकार नहीं बना सकता था। और नियम और क़ानून ऐसे थे कि नगर वधू के शरीर को कोई छू भी नहीं सकता था। आप बोलेंगे - फिर यह नगर वधू होती किसलिए थी? यह नगर वधू हुआ करती थी, समाज के लोगों को संगीत की तालीम देने के लिए, शिक्षा देने के लिए। जैसे, नृत्य सिखाने के लिए। जैसे गायन सिखाने के लिए। जैसे वाद्य सिखाने के लिए। वह संगीत की कला में बहुत निपुण कलाकार हुआ करती थी, और उनके द्वारा संगीत कला का शिक्षण और प्रशिक्षण का काम चला करता था। सम्राट अशोक के ज़माने में, सम्राट चन्द्रगुप्त के ज़माने में, सम्राट हर्षवर्धन के ज़माने में, सम्राट चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य के ज़माने में, जितने भी भारत में चक्रवर्ती सम्राट रहे हैं, उनके ज़माने जो नगर वधुएँ हुआ करती थीं, वे संगीत का शिक्षण और प्रशिक्षण देने वाली उच्च, इज्ज़तदार, बहुत रौबदार महिलायें हुआ करती थीं। वे अपने शरीर का सौदा करने वाली सामान्य वेश्याएं नहीं हुआ करती थीं।
तो, नगर वधू एक अलग बात थी, हरम में महिलाओं का रहना बिलकुल अलग बात थी। अंग्रेजों ने क्या किया - भारत वासियों के चरित्र को पूरी तरह ख़त्म कर देने के लिए सबसे पहली बार एक वेश्याघर खोल दिया और वह वेश्याघर सोनागाची का, कलकत्ता का वेश्याघर बन गया। अंग्रेजों ने वहां क्या किया - 1757 के प्लासी के युद्ध के बाद रोबर्ट क्लाइव ने कलकत्ता को लूटा, इतिहास में आपने पढ़ा होगा, न सिर्फ कलकत्ता के धन संपत्ति को लूटा, बल्कि जिन घरों में वह गया, उन घरों की माताओं, बहन, बेटियों की इज्ज़त और आबरू को भी लूटा। और ऐसे सैंकड़ों घर थे जहां अँगरेज़ घुस गए, और उनहोंने हमारी मां, बहन बेटियों की आबरू को तार-तार कर दिया। फिर उन मां बहन, बेटियों का समाज में कोई रखवाला नहीं रहा। घर वालों ने उनको निकाल दिया, समाज ने उनको तिरस्कृत कर दिया और अंग्रेजों ने उन की इज्ज़त से खिलवाड़ किया। तो ऐसी मां, बहन, बेटियों को पकड़ पकड़ कर अंग्रेजों ने वेश्या बना दिया और नियमित रूप से उनके यहाँ अँगरेज़ सैनिक अपनी वासना की शांति के लिए, अपनी भूख

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

Har Koi In Honton Pe Muskan Lana Nahi Janta
Har Koi Is Dil Ko Churana Nahi Janta
Ek Tum Hi To Ho Jo Hum Se Jeet Gaye
Warna Har Koi Humain Harana Nahi Janta .

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

1. अढ़ाई दिन का झोंपडा, अजमेर
को किसने बनवाया?
- कुतुबुद्दीन ऐबक
2. कुतुबमीनार, दिल्ली को किसने
बनवाया? -इल्तुतमिश
3. लालमहल, दिल्ली को किसने बनवाया?
- बलबन
4. अलाई दरवाजा, दिल्ली को किसने
बनवाया? -
बलबन
5. जमातखाना, दिल्ली को किसने
बनवाया? -
अलाउद्दीन खिलजी
6. हजार सितुन, दिल्ली को किसने
बनवाया?
-अलाउद्दीन खिलजी
7. जमातखाना मस्जिद, दिल्ली को किसने
बनवाया?
- अलाउद्दीन खिलजी
8. कुब्बत-उल-इस्लाम मस्जिद,
दिल्ली को किसने बनवाया? - कुतुबुद्दीन ऐबक
9. नासिरूद्दीन का मकबरा,
दिल्ली को किसने बनवाया? - इल्तुतमिश
10. अतारकिन का दरवाजा, नागौर
को किसने बनवाया? - इल्तुतमिश
11. तुगलकाबाद, दिल्ली को किसने
बसाया? -गयासुद्दीन तुगलक
12. आदिलाबाद, दिल्ली को किसने
बसाया? - मुहम्मद तुगलक
13. भारतीय संविधान सभा का गठन किस
योजना के अन्तर्गत किया गया? - कैबिनेट मिशन प्लान, 1946
14. भारत की संविधान सभा के अध्यक्ष
कौन थे? - डॉ.राजेन्द्र प्रसाद
15. संविधान सभा की प्रारूप समिति के
अध्यक्ष कौन थे? - डॉ. बी आर अम्बेडकर
16. संविधान सभा के संवैधानिक सलाहकार
कौन थे? -डॉ. बी एन राव
17. भारत की संविधान
सभा की पहली बैठक कब हुई? -
9 दिसम्बर 1946 को
18. भारत का संविधान को स्वीकृति कब
मिली? -
26 जनवरी 1950 को
19. “भारतीय संविधान की आत्मा” किसे
कहा जाता है? - प्रस्तावना को
20. संविधान में प्रथम संशोधन कब हुआ
था? - 1951 में
21. भारतीय संविधान की 11
वीं अनुसूची किस संशोधन के बाद जोड़ी गई? - 72वाँ
22. भारतीय संविधान की 12
वीं अनुसूची किस संशोधन के बाद जोड़ी गई? - 86वा

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

अपने दोस्तों के मोबाइल का बेलेंस का पता लगाये चुटकियो मेंआज आपके लिए मोबाइल की वो ट्रिक लेकर आया हु जिसके बारे में शायद बहुत कम लोगो को पता हो ये ट्रिक है अपने दोस्तों या अपनी प्रेमिका के मोबाइल नम्बर के बेलेन्स का पता करने की ट्रिक आपमें से बहुत से लोगो को इस बातकी जानकारी नहीं होगी की केसे हम किसी के मोबाइल का बेलेंस का पता लगा सकते है लेकिन आज की पोस्ट पढ़कर आप अपने दोस्तों याकिसी का भी मोबाइल का बेलेंस का पता लगा सकते हो जो मैं आपको ट्रिक बता रहा हु वो बस Airtel, TataDocomo, Idea और Bsnl के नेटवर्क पर ही काम करती है इस ट्रिक को मैंने खुद अजमा कर देखा है ये ट्रिक 100% काम करतीहै आपको बेलेंस की जानकारी के लिए अपने मोबाइल से वो नम्बर डायल करने है जिनके बारे में मैं निचे बता रहा हुँ।

arti singh said...

kay ctet 5 yrs me 5 baar hi de sakte hai.kay ye sahi hai

Gyanendra Shakya said...

Abhishek rai fuker king

Gyanendra Shakya said...

Abhishek rai fuker king

Gyanendra Shakya said...

Abhishek rai fuker king

Gyanendra Shakya said...

Abhishek rai fuker king

Gyanendra Shakya said...

Abhishek rai fuker king

TET MERIT NAHI TO BHARTI BHI NAHI said...

ुअगर आप Airtel के नम्बर पर बेलेंसकी जानकारी चाहते हो तो आपको Airtel मोबाइल से 09810198101 मिलाना होगा और निर्देशों का पालन करते हुवे आगे बढ़ना है जब आपसे नम्बर डालने के लिए बोला जायेगा तो आपको वो नम्बर डालना है जिसका आपको बेलेंस पता करना है आगे बढ़ते टाइम आपसे पिन नम्बर पूछा जायेगा तो वहा आपको 1234 नम्बर दबाना हैTataDocomo वालो को ये नम्बर मिलाना है 09040012345 or 07737012345Ideaवालो को ये नम्बर मिलाना है09824012345Bsnl वालो को ये नम्बर मिलाना है 9415100123 (only for up)आपको जिस कम्पनी के सिम का बेलेंस का पता करना है तो आपको उसी कम्पनी के सिम से ही काल करनी होगी जैसे अगर आपको एयरटेलके सिम का बेलेंस पता करना है तोआपको एयरटेल नम्बर से ही काल करनी होगीनोट-- Docomo पर इस सुविधा का कोई चार्च नहीं है लेकिन और कम्पनी पर आपको काल करने पर आपका उतना ही बेलेंस कटेगा जितना आपका STD काल रेट होगा

rajes pandey said...

priya bhaiyao meri final news ye hai i bharti acd +tet per hi hogi..






president
rajessh pandey ?

tet sangarsh morcha

call me any inquiry TOLL free call

8563032780

rajes pandey said...

priya bhaiyao meri final news ye hai i bharti acd +tet per hi hogi..






president
rajessh pandey ?

tet sangarsh morcha

call me any inquiry TOLL free call

8563032780

rajes pandey said...

priya bhaiyao meri final news ye hai i bharti acd +tet per hi hogi..






president
rajessh pandey ?

tet sangarsh morcha

call me any inquiry TOLL free call

8563032780

rajes pandey said...

priya bhaiyao meri final news ye hai i bharti acd +tet per hi hogi..






president
rajessh pandey ?

tet sangarsh morcha

call me any inquiry TOLL free call

8563032780

rajes pandey said...

priya bhaiyao meri final news ye hai i bharti acd +tet per hi hogi..






president
rajessh pandey ?

tet sangarsh morcha

call me any inquiry TOLL free call

8563032780