Wednesday, April 23, 2014

Grade 2nd Teacher Recruitment Rajasthan : स्कूलों को जुलाई से शुरू हो रहे नए सत्र में मिलेंगे 9447 नए शिक्षक!

Grade 2nd Teacher Recruitment Rajasthan : स्कूलों को जुलाई से शुरू हो रहे नए सत्र में मिलेंगे 9447 नए शिक्षक!

 RTET / Rajasthan Teacher Eligibility Test News

Grade 3rd Teacher Recruitment Rajasthan, Grade 2nd Teacher Recruitment Rajasthan


स्कूलों को जुलाई से शुरू हो रहे नए सत्र में मिलेंगे 9447 नए शिक्षक!
अजमेर. सब कुछ सामान्य रहा तो जुलाई से शुरू हो रहे नए सत्र में प्रदेश के विभिन्न सरकारी स्कूलों में 9 हजार 447 शिक्षक मिल सकेंगे। इन पदों पर भर्ती के लिए राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा भर्ती परीक्षा आयोजित की जा चुकी है और संभावना यही है कि अगले महीने में परिणाम घोषित किया जा सकता है।

आयोग द्वारा गणित, अंग्रेजी, हिंदी, संस्कृत, पंजाबी, गुजराती, उर्दू, सामाजिक विज्ञान और विज्ञान विषयों के शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए 21 से 25 फरवरी तक वरिष्ठ अध्यापक ग्रेड सेकंड प्रतियोगी परीक्षा 2013 का आयोजन किया गया। परीक्षा दे चुके अभ्यर्थियों का सपना यही है कि आयोग जल्द से जल्द परिणाम जारी कर दे, तो जुलाई से शुरू हो रहे सत्र में शिक्षकों के रिक्त पद भर जाएं और उन्हें भी रोजगार मिल सके। अभ्यर्थी बद्री प्रसाद शर्मा के मुताबिक अभ्यर्थी आयोग से भी आग्रह कर चुके हैं कि आयोग द्वारा उत्तर कुंजियों पर अभ्यर्थियों से जो आपत्तियां मांगी थीं, उन आपत्तियों का निस्तारण कर जल्द संशोधित उत्तर कुंजी जारी करे। ताकि समय पर परिणाम की आस बंध जाए।

9 लाख से अधिक बेरोजगारों का सपना : इस परीक्षा के लिए प्रदेश के करीब 9 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किए थे। इनमें से 7 लाख से अधिक ने परीक्षा दी है। इन अभ्यर्थियों और उनके परिवारजनों को परिणाम का बेसब्री से इंतजार है।
चुनाव के चलते हो रहा है विलंब : आयोग सूत्रों का कहना है कि लोकसभा चुनाव के चलते संशोधित उत्तर कुंजियां जारी होने में समय लग रहा है। आयोग द्वारा संबंधित विषय के विशेषज्ञ बुलाकर अभ्यर्थियों की आपत्तियों की जांच कराई जाती है और इसके बाद ही संशोधित उत्तर कुंजियां जारी हो पाती हैं। फिलहाल कुछ विशेषज्ञों से आयोग को समय नहीं मिल पा रहा है।

॥वरिष्ठ अध्यापक ग्रेड सेकंड प्रतियोगी परीक्षा 2013 की उत्तर कुंजियों पर मिली आपत्तियों के बाद संशोधित उत्तर कुंजियों पर भी आपत्तियां मांगी गई हैं। इनकी जांच के बाद आयोग पुन: संशोधित उत्तर कुंजियां जारी करेगा। संभव है अगले महीने में इस परीक्षा का परिणाम घोषित किया जा सके।
-नरेश कुमार ठकराल, सचिव, आरपीएससी

News Source / Sabhaar : Bhaskar.com (22.04.2014) / bhaskar news | Apr 22, 2014, 07:15AM IST


UPTET-2011 Primary : Candidates Secured 82 Marks Demands Successful, Allahabad HC permitted

UPTET-2011 Primary : Candidates Secured 82 Marks Demands Successful, Allahabad HC permitted as per NCTE Guidelines and instructed secretary 



**********
अगर 82 मार्क्स पर कैंडिडेट पास होते हैं तो भर्ती पर कोई विशेष प्रभाव नहीं पड़ने वाला । क्यूंकि  चयन की मेरिट
टी ई टी मार्क्स पर आधारित है लेकिन यह जरूर हो सकता है की कुछ एस टी / पी एच (विकलांग )/ / शिक्षा मित्र  अभ्यर्थीयों को लाभ मिले , विशेषकर
सीतापुर, लखीमपुर , गोंडा जैसे जिलों में जहाँ सीटों की संख्या अधिक है
और एस टी / पी एच (विकलांग ) अभ्यर्थीयों की मेरिट सामान्यत: काम जाती है:
**********

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News   



HIGH COURT OF JUDICATURE AT ALLAHABAD

?Court No. - 1

Case :- WRIT - A No. - 19920 of 2014

Petitioner :- Satendra Pratap Singh And 4 Others
Respondent :- State Of U.P. And 4 Others
Counsel for Petitioner :- Navin Kumar Sharma,Neeraj Tiwari
Counsel for Respondent :- C.S.C.,R.A. Akhtar

Hon'ble B. Amit Sthalekar,J.
By this writ petition, the petitioners are seeking a direction to the respondents to issue certificate of� Teacher Eligibility Test-2011 ( Primary Level) to the petitioners in pursuance of decision taken by the respondent no. 5 on 10.1.2014.
According to the petitioners, petitioners no. 1, 2,3 and 5� had� appeared in TET 2011 (Primary) but had been declared unsuccessful but subsequently a decision has been taken by the respondent no. 5-Chairman, N.C.T.E., Bahadur Shah Zafar Marg, New Delhi to allow rounding off of marks and the petitioners are therefore claiming the benefit of the said decision of the respondent no. 5 dated 10.1.2014.
I have heard Shri Naveen Kumar Sharma, learned counsel for the petitioners, learned standing counsel for the respondents no. 1 to 4 and Shri R. A. Akhtar, learned counsel appearing for the respondent no. 5.
No useful purpose would be served in keeping this writ petition pending.
Without expressing any opinion on the merits of the case and with the consent of learned counsel for the parties, this writ petition is disposed of with a direction to the respondent no. 1-Secretary, Basic Education, U.P. at Lucknow to take a decision in the matter of the petitioners if their case falls within the case of rounding of marks as provided by the NCTE-respondent no. 5 in its circular dated 10.1.2014 within a period of one month from the date a certified copy of this order is received in his office.
Order Date :- 4.4.2014

Asha


UPTET 2013 : Result Correction writ in Allahabad High court

UPTET 2013 : Result Correction writ in Allahabad High court



UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News   
 Tags : uptet 2013, UPTET 2013 RESULT, NCTE, Urdu Teacher,



यू पी टी ई टी 2013 में एक लड़की के 88  मार्क्स आने पर , इलाहबाद हाई कोर्ट में याचिका डाली गयी की
परीक्षा में प्रश्न त्रुटि पूर्ण थे ,
कोर्ट ने शिक्षा  विभाग को गलती सुधारने के लिए हलफनामा दाखिल करने को बोला है और हलफनामा दाखिल होने के १ महीने के भीतर आवश्यक कार्यवाही करने को बोला है





HIGH COURT OF JUDICATURE AT ALLAHABAD

Court No. - 3

Case :- WRIT - A No. - 47064 of 2013

Petitioner :- Ashmin Jahan
Respondent :- State Of U.P.& 2 Ors.
Counsel for Petitioner :- Siddharth Khare,Ashok Khare
Counsel for Respondent :- C.S.C.,A.K.Yadav

Hon'ble Rajan Roy,J.

Heard learned counsel for the parties.
The petitioner applied for the U.P. Teacher Eligibility Test, 2013 held on 27.06.2013 and appeared in the written examination, but she was declared unsuccessful, having secured only 88 marks as against requisite cut off mark i.e. 90 marks.
According to the petitioner, the answers of questions no. 49 & 78 of Series-D, as given in the key answer sheet prepared by the respondents, were not correct. The averments made in this regard, by the petitioner in paragraphs 18 to 24 of the writ petition, are quoted below:
"18. That question nos. 49 and 78 are questions pertaining to Part-II (Urdu Comprehension) (Prose and Poetry) and Part-III pertaining to Urdu Grammar. Both the said questions are their multiple choice answers are indicated in the question paper in Urdu language.
19. That for convenience the Hindi translation of question no. 49 is as follows:
" 49- ;g eflZ;k fdl 'kk;j dk gS
1- ehj vuhl]
2- fetZk nchj]
3- ehj tehj]
4- ehj [kyhQ-
20. That according to the petitioner the correct answer to Question No. 49 is option no. 1 but according to the key answer the correct answer to the said question has been treated to be Option No. 2. In support of the aforesaid the petitioner brings on record the extracts pertaining to Marsia Mir Anees as down loaded from the internet is annexed and marked as Annexure no. 7 to this writ petition.
21. That similarly the Hindi translation of Question No. 78 is extracted below:
78- cPpas yQ~t vklkuh ls lh[k ys mlds fy;s ge D;k bLrseky djrs gSa&
1- fdrkc nsuk]
2- fy[kkuk]
3- i    4- Iys dkMZ nsuk-
22. That according to the petitioner the correct answer to the said question is Option No. 4 and it is Option No. 4, which has been indicated by the petitioner. However, according to the respondents the correct answer to Question No. 78 is Option No. 3.
23. That by no stretch of imagination Option No. 3 can be treated to be the correct answer to Question No. 78 and in fact it is Option No. 4 which is the correct answer to the said question.
24. That in case the aforesaid three mistakes are rectified then marks secured by the petitioner would be 91 marks and the petitioner would be treated as having qualified the U.P. Teacher Eligibility Test."

A perusal of the pleadings quoted above clearly indicates that as per the petitioner, in respect of Question No. 49, the correct answer was, the Option No. 1, but according to the key answer sheet, the answer was, Option No. 2. Similarly with regard to Question No. 78, as per the petitioner, the correct answer was, Option No. 4, whereas, as per the key answer sheet, the answer was, Option No. 3.
The respondents have filed their counter affidavit and in paragraph 14 thereof they have admitted the fact that the answers given in the key answer sheet as prepared by the subject expert, were not correct and the contentions of the petitioner in that regard are correct. The contents of paragraph 14 of the counter affidavit filed by the State are quoted herein-below:
14- ;g fd ;kfpdk ds izLrj 24 esa of.kZr dFku ds laca/k esa izfroknh mRrjnkrk dk dguk gS fd mRrj izns'k f'k{kd ik=rk ijh{kk 2013 esa izkFkfed Lrj mnwZ Hkk"kk ds 11 iz'uksa ij vkifRr djrs gq, ,d vU; ;kfpdk la[;k 5836 (,e0,l0)@2013 [kq'khZn vkye [kWk o vU; cuke mRrj izns'k jkT; o vU; nkf[ky dh x;hA bl ;kfpdk ds nkf[ky gksus ds ckn iqu% fo"k;&fo'ks"kK ls tWkp djk;h x;h ftlesa fo"k;&fo'ks"kK }kjk ;g ekuk x;k gS fd iz'u la[;k lhjht Mh ds iz'u la[;k 49 o 78 dk okLrfod lgh mRrj dze'k% fodYi la[;k 01 o 04 gS] bl izdkj igys fo"k;&fo'ks"kK }kjk tks fjiksVZ nh x;h Fkh og xyr gSA ekuuh; U;k;ky; ds voyksdukFkZ fo"k; fo'ks"kK dh uohu fjiksVZ dh Nk;kizfr bl izfr'kiFki= ds lkFk layXud lh0,0&4 ds :i esa layXu dh tk jgh gSA bl iz'u dk mRrj ;kph }kjk dze'k% fodYi la[;k 01 o 04 Hkjk gS] tks la'kksf/kr fjiksVZ ds vuqlkj lgh gS] bl izdkj ;kph ds 90 vad gks tk;saxs] ;kph dk ;g dguk gS fd vxj xyrh dks lgh dj fn;k tk;s rks muds 91 vad gks tk;saxs lgh ugha gS
From the aforesaid averments, it is evident that another Writ Petition No. 5836 (M.S.) of 2013 was filed by another unsuccessful candidate raising objections regarding answers of 11 questions in respect of the U.P. Teacher Eligibility Test, 2013. After filing of the said petition, the matter was re-examined and it was accepted by the subject expert that the answers as contained in the key answer sheet in respect of Questions No.49 & 78 of Series-D, were incorrect and correct answers were, Options No.1 & 4, respectively. The report of the earlier subject expert was incorrect. The subsequent report of the subject expert dated 28.10.2013, contained in Annexure C.A-4 to the counter affidavit, supports the averments made in para-14 of the counter affidavit.
In view of above, for these two questions, petitioner will get increase of 2 marks i.e. 1 mark for each question and thus, the aggregate of her marks would now come to 90, which is the cut off mark prescribed for the purpose of selection. Accordingly, the petitioner is entitled to be declared successful.
In the result, the writ petition succeeds and is allowed. A writ of Mandamus is issued to the respondents to rectify the mistakes committed by them, in the light of averments made in paragraph 14 of the counter affidavit and take all consequential actions as may be required by law, treating the petitioner as successful in U.P. Teacher Eligibility Test (Primary level for Urdu language), 2013, within a period of one month from the date of production of the certified copy of this order before them.
Order Date :- 16.4.2014
Kst/-



UPTET : कोर्ट ने पूछा, क्या तय मानकों के तहत कराई गई है टीईटी परीक्षा?

UPTET : कोर्ट ने पूछा, क्या तय मानकों के तहत कराई गई है टीईटी परीक्षा?

Urdu Bhrtee Ke Liye TET Ki Prakriya 

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News   
 Tags : uptet 2014, UPTET 2014 RESULT, NCTE, Urdu Teacher,

लखनऊ : इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने राज्य सरकार से पूछा है कि क्या टीईटी परीक्षा एनसीटीई के तहत निर्धारित प्रावधानों के तहत हुयी है कि नही। उक्त आदेश मुख्य न्यायधीश डॉ. धनन्जय यशवन्त चन्द्रचूड़ व न्यायमूर्ति देवेन्द्र कुमार उपाध्याय की पीठ ने डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा दायर एक जनहित याचिका पर पारित किया। याचिका दाखिल कर कहा गया कि टीईटी की परीक्षा एनसीटी के निर्धारित प्रावधानों के तहत नहीं कराई गई है। याचिका में आरोप लगाया कि उक्त परीक्षा विधिविरुद्ध व गैरकानूनी तरीके से कराई गई। याचिका में मांग की गई है कि उक्त परीक्षा रद्द कर दोबारा परीक्षा एनसीटीई के तहत निर्धारित प्रावधानों के अंतर्गत कराई जाए। इस पर पीठ ने राज्य सरकार कें सरकारी वकील से मामले में जानकारी प्राप्त करने का निर्देश देते हुए इस मामले की अगली सुनवाई के लिए 24 अप्रैल की तिथि नियत की है।



UGC NET : संभल कर करें ऑनलाइन आवेदन

UGC NET : संभल कर करें ऑनलाइन आवेदन

इलाहाबाद : यूजीसी नेट जेआरएफ के लिए आवेदन करने पहुंचीं ज्योति इंटरनेट पर पांच घंटे बिताने के बाद भी आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं कर सकीं। कभी फोटो व हस्ताक्षर की डिजीटल फाइल का आकार ज्यादा होता तो कभी कोड नंबर गलत हो जाता। इसके चलते आवेदन पूरा नहीं हो पा रहा था। ज्योति की तरह ही तमाम अभ्यर्थी इन दिनों ऑनलाइन आवेदन करने में गलती कर रहे हैं। छोटी गलतियों का बड़ा खामियाजा यह है कि आवेदन ही अस्वीकृत हो जा रहे हैं। थोड़ी सावधानी बरत कर आवेदन अस्वीकृत होने की परेशानी से बच सकते हैं।
कटरा स्थित एक साइबर कैफे संचालक अतहर उमर बताते हैं कि अभ्यर्थी पूरे दिशा निर्देश को पढ़े बगैर ही आवेदन के लिए पहुंच जाते हैं। इससे उन्हें परेशानी होती है। उन्होंने ऑनलाइन आवेदन करने के दौरान बरती जाने वाली महत्वपूर्ण बातें बताई। कहा कि अगर अभ्यर्थी अपने आवेदन करते समय हड़बड़ी न करें तो कोई भी आवेदन अस्वीकृत नहीं होगा।
--------
मानें सलाह, नहीं होगा आवेदन अस्वीकृत
-आमतौर पर अभ्यर्थी आवेदन के लिए दिए गए दिशा निर्देशों को पढ़ने से परहेज करते हैं। यह गलती की शुरूआत है। बिना निर्देश पढ़े फार्म भरना शुरू न करें। आवेदन के लिए यह जांच लें कि इंटरनेट कनेक्टिविटी ठीक है या नहीं। यह भी पता रहना जरूरी है कि आवेदन कितने से कितने बजे तक संभव है। यह गलत धारणा है कि सभी ऑनलाइन आवेदन 24 घंटे होते हैं। ऑनलाइन के लिए ईमेल आइडी व मोबाइल फोन नंबर की जरूरत होती है। ईमेल आइडी न हो तो अपनी एक ईमेल आईडी बना लें।
-ऑनलाइन आवेदन में डिजीटल फोटोग्राफ और हस्ताक्षर की जरूरत पड़ती है। साल भर में एक बार अपनी डिजीटल फोटो खिंचवा कर उसे कम 'फाइल साइज' मसलन दस से 25 केबी में बदल कर रख लें। इस फोटो का प्रिंट भी रखें। सादे कागज पर अपना हस्ताक्षर कर उसकी फोटो ले लें। इस फोटो की पांच से 20 केबी की फाइल बना लें। यह सभी सामग्री अपनी ईमेल पर भी सुरक्षित रख लें। तमाम आवेदन में यह काम आएगी।
-आवेदन करने के लिए साइबर कैफे पहुंचने या फिर इंटरनेट ऑन करने से पहले शैक्षिक व सभी आवश्यक प्रपत्रों की छाया प्रतियां साथ रखें। ऑनलाइन आवेदन दो खंडों में होता है। एक में पंजीकरण करना होता है फिर शुल्क जमा कर आवेदन पूरा करना होता है। आवेदन 'सबमिट' करने से पहले पूरा फार्म जांच लें।
-ऑनलाइन आवेदन करने वालों के लिए 'ई-चालान' या 'ऑनलाइन फीस डिपाजिट' की सुविधा दी जाती है। ई-चालाना का प्रिंट लेकर दिए गए समय के अनुसार बैंक जाकर शुल्क जमा करें। ऑनलाइन शुल्क जमा करते समय बताए गए दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन करें। जिस संस्थान की ओर से आवेदन मांगे गए हैं, उनकी वेबसाइट के जरिए ही आवेदन करें। किसी समस्या पर संस्थान की हेल्पलाइन का प्रयोग करें।
-कुछ आवेदन प्रक्रिया में ऑनलाइन आवेदन के बाद भरे फार्म की हार्ड कॉपी जमा करना होता है। इसके लिए भरे फार्म का निर्धारित प्रारूप में प्रिंट निकाल कर निर्धारित समय सीमा के अनुरूप आवेदन जमा करें। आवेदन करने के बाद पंजीकरण संख्या और भरे फार्म की एक प्रति अपने पास जरूर रखें


News Sabhaar : Jagran (Tuesday,Apr 22,2014 08:35:47 PM)

72825 Teacher Recruitment : शिक्षकों की भर्ती पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कल

72825 Teacher Recruitment : शिक्षकों की भर्ती पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कल

 UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order, UP-TET 2011

लखनऊ : सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 72,825 शिक्षकों की भर्ती के मामले में सचिव बेसिक शिक्षा नीतीश्वर कुमार बृहस्पतिवार को जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे। इस संबंध में डायट प्राचार्यों को निर्देश भेज दिया गया है कि वे नवंबर 2011 में विज्ञापन के आधार पर आए आवेदनों का ब्यौरा एकत्र कर लें

News Source / Sabhaar : Amar Ujala (23.04.2014)

First Karnataka Teachers' Eligibility Test in May or June

First Karnataka Teachers' Eligibility Test in May or June


Tags : KTET, Karnataka TET, Teacher Eligibility Test (TET),


टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  


Aspiring primary school teachers will have to make themselves eligible for government teaching jobs by writing the Teachers Eligibility Test (TET), which will be conducted for the first time in the State in the last week of May or first week of June.

The Common Admission Cell (CAC) of the Department of Public Instruction has been asked to conduct the first ever KARTET, as it will be called, tentatively on May 25. At present, to teach Classes 1-8, a basic qualification of pre-university (or degree) and Diploma in Education (or Bachelor of Education) serves as eligibility to take part in recruitment.

The decision to conduct the test comes amidst mounting pressure by the National Council for Teacher Education (NCTE), which made TET qualification compulsory for teachers before recruitment as primary teachers (Classes 1-8) way back in August 2010 in line with the implementation of the Right to Education Act.

“More than 20 states are conducting their own TETs. In all future recruitment, it will become mandatory for teachers to first write the TET and secure more than 60 per cent marks (55 per cent for reservation categories) in order to become eligible to apply for teaching jobs. A notification will be issued on April 18,” an official from CAC told Express.

“We have to do it now as the Government of India wants it done not only for government recruitment, but also for hiring of teachers in unaided schools,” said Commissioner for Public Instruction Mohammed Mohsin. NCTE says TET should become a minimum qualification as “it would bring national standards and benchmark of teacher quality in the recruitment process.”

While in-service teachers will not be required to clear the TET, it will apply for more than 2.17 lakh persons who applied for primary teachers recruitment that was notified in 2012-13 and stalled due to the implementation of the Hyderabad-Karnataka quota.

“These applicants will be informed to take the TET. Only those who score 60 per cent or more can take part in the subsequent recruitment process. Those who fail to clear it will have their application fees refunded,” the official said.

Officials expect around 3 lakh candidates to take the first TET as all DEd and BEd holders will have to take it. The TET scores will be valid for seven years and candidates can take the test any number times.

The test will be held in Kannada and English for a duration of two-and-a-half hours once every year. It consists of Paper-1 for those wanting to teach Classes 1-5 and Paper-2 for Classes 6-8. There are five papers carrying 30 marks each with 150 multiple-choice questions-two languages, mathematics, science and social sciences


News Source : newindianexpress.com (14th April 2014 )

UP teacher News : शिक्षक-कर्मियों को नई पेंशन का लाभ शीघ्र

UP teacher News : शिक्षक-कर्मियों को नई पेंशन का लाभ शीघ्र
UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  


 इलाहाबाद : इंतजार की घड़ियां खत्म हुई। प्रदेश के सवा लाख से अधिक अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षक, शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को नई पेंशन योजना का लाभ शीघ्र मिलेगा। इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। एक अप्रैल 2005 के बाद भर्ती हुए शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की मई से पेंशन की कटौती शुरू हो जाएगी। शुरू में प्रदेश के 40 जिलों में इसे लागू किया जाएगा, दो-तीन माह बाद पूरे प्रदेश के शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा।

प्रदेश के हजारों अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में सवा लाख से अधिक शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की भर्ती एक अप्रैल 2005 के बाद हुई है। नव परिभाषित अंशदान पेंशन योजना के तहत नई पेंशन का लाभ देने की काफी समय से मांग चल रही थी, जिसकी तैयारी पूरी हो चुकी है। सभी का फार्म एन-3 भरकर, रजिस्ट्रेशन नंबर दिया गया है। इसे कर्मचारियों व शिक्षकों द्वारा भरे गए फार्म एस-1 पर अंकित कर पुन: केंद्रीय अभिलेख अनुरक्षक भेजने की प्रक्रिया अंतिम दौर में हैं। इसमें इलाहाबाद, मेरठ, वाराणसी, गाजीपुर, हाथरस, फतेहपुर, प्रतापगढ़, उन्नाव, गोरखपुर, झांसी, महोबा, रायबरेली, सीतापुर, आजमगढ़, बांदा, आगरा, गाजियाबाद, उन्नाव, गोरखपुर, गोंडा, सुल्तानपुर, सीतापुर सहित प्रदेश के 40 जिले शामिल हैं। फार्म की खानापूर्ति होने के बाद शिक्षकों व शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को एक एकाउंट नंबर दिया जाएगा जिसमें माहवार कटौती कर धनराशि जमा होगी। नई पेंशन योजना के तहत वेतन व महंगाई भत्ता की दस प्रतिशत धनराशि का मासिक अंशदान शिक्षक व कर्मचारी द्वारा किया जाएगा तथा उतना ही अंशदान राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा। सेवानिवृत्त होने पर अध्यापक व कर्मचारी को पूरी धनराशि का 60 प्रतिशत एकमुश्त मिलेगा जबकि 40 प्रतिशत अंश का निवेश अनिवार्य रूप से किसी मान्यता प्राप्त बीमा कंपनी से एक पालिसी क्रय करके करना होगा जिससे पेंशन मिलेगी।

---------

नई पेंशन योजना को लागू करने की सारी कार्रवाई पूरी हो चुकी है। मई माह से कटौती शुरू हो जाएगी। बचे जिलों का काम भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

-आरपी सिंह, वित्त नियंत्रक माध्यमिक शिक्षा

News Source / Sabhaar : Jagran (Tuesday,Apr 22,2014 07:24:40 PM)

Tuesday, April 22, 2014

UPTET 2014 RESULT : जल्द जारी होगा यू पी टी ई टी 2014 का रिजल्ट

UPTET 2014 RESULT : जल्द जारी होगा यू पी टी ई टी 2014 का रिजल्ट


UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  


चुनाव आयोग ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) का रिजल्ट जारी करने की अनुमति दे दी है। बेसिक शिक्षा विभाग ने चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी कि हाईकोर्ट का आदेश है कि 82 अंक पाने पर आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को पास किया जाए। मौजूदा समय में 83 अंक पाने वालों को पास किया जा रहा है। चुनाव आयोग ने इस पर सहमति दे दी है।

रिजल्ट इस हफ्ते जारी होने की सम्भावना है


72825 Teacher Recruitment : टीईटी अभ्यर्थियों ने मांगी नौकरी

72825 Teacher Recruitment : टीईटी अभ्यर्थियों ने मांगी नौकरी


UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

UPTET PASS GIRL CANDIDATE can JOIN THIS GROUP : https://www.facebook.com/groups/uptetgirlsgroup/

UPTET PASS CANDIDATE can JOIN this GROUP :https://www.facebook.com/groups/uptetteachersgroup





Tags : 72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order, UP-TET 2011,

आजमगढ़ : स्थानीय जनपद के टीईटी अभ्यर्थियों ने मंगलवार को नामांकन पत्र दाखिल करने जनपद आए सपा मुखिया को नियुक्ति के बाबत ज्ञापन सौंपा। अभ्यर्थियों ने लगे हाथ उच्चतम न्यायालय के आदेश से मुलायम सिंह को रूबरू करा चार सप्ताह बीत जाने के लिए शीघ्र ही नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने की मांग की।

टीईटी अभ्यर्थियों का प्रतिनिधि मंडल मंगलवार को मुलायम सिंह यादव से 72 हजार 825 अध्यापक पदों की रिक्तियों के लिए आगे सरकार की मंशा जानने के लिए मिला
। अभ्यर्थियों ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश के तहत रिक्तियों को भरने के लिए 12 सप्ताह का वक्त दिया था। 12 सप्ताह में से चार सप्ताह बीत चुके हैं लेकिन उप्र सरकार की तरफ से नियुक्ति के मामले में कोई कार्यवाही आगे नहीं बढ़ाई गई है। अब बचे आठ सप्ताह में ही पूरी प्रक्रिया संपन्न करानी है। इसके चलते स्थानीय टीईटी अभ्यर्थियों ने नियुक्ति प्रक्रिया शीघ्र शुरू कराने के लिए सपा मुखिया से अपील की

News Source / Sabhaar : Jagran (Tuesday,Apr 22,2014 10:05:47 PM)

72825 Teacher Recruitment : िशक्षक भ्‍ार्ती को इसी हफ्ते शुरु होगी प्रकि्रया

72825 Teacher Recruitment : िशक्षक भ्‍ार्ती को इसी हफ्ते शुरु होगी प्रकि्रया

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

UPTET PASS GIRL CANDIDATE can JOIN THIS GROUP : https://www.facebook.com/groups/uptetgirlsgroup/

UPTET PASS CANDIDATE can JOIN this GROUP :https://www.facebook.com/groups/uptetteachersgroup




72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order, UP-TET 2011




लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 72,825 शिक्षकों की भर्ती की तैयारियों के संबंध में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्यों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए चुनाव आयोग ने अनुमति दे दी है। सचिव बेसिक शिक्षा नीतीश्वर कुमार इसी हफ्ते डायट प्राचार्यों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग कर नवंबर 2011 के विज्ञापन के आधार पर आए हुए आवेदनों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। इसके बाद भर्ती प्रक्रिया के संबंध में आगे की कार्यवाही की जाएगी
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में बीएड वालों की टीईटी मेरिट के आधार पर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट के आधार पर की जानी है। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश 25 मार्च को दिया है। सचिव बेसिक शिक्षा डायट प्राचार्यों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करना चाहते हैं। डायट प्राचार्यों की लोकसभा चुनाव में ड्यूटी भी लगी हुई है। इसलिए चुनाव आयोग से वीडियो कांफ्रेंसिंग की अनुमति मांगी गई थी। सचिव ने बताया कि आयोग ने अनुमति दे दी है, इस संबंध में शीघ्र ही कांफ्रेंसिंग की जाएगी।


UPTET 2014 Result Declaration Permission is Granted by Election Commission :-

टीईटी रिजल्ट जारी करने की अनुमति
लखनऊ। चुनाव आयोग ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) का रिजल्ट जारी करने की अनुमति दे दी है। बेसिक शिक्षा विभाग ने चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी कि हाईकोर्ट का आदेश है कि 82 अंक पाने पर आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को पास किया जाए। मौजूदा समय 83 अंक पाने पर पास किया जा रहा है। चुनाव आयोग ने इस पर सहमति दे दी है।

शिक्षक भर्ती पर डायट प्राचार्यों से कांफ्रेंसिंग को आयोग की अनुमति

Shiksha Mitra Samayojan / Regularization on Teachers Job Postponed : -

शिक्षा मित्रों के समायोजन पर रोक
सरकार ने दो वर्षीय पत्राचार बीटीसी करने वाले शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक के पद पर समायोजन करने के संबंध में चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव पूरे होने तक अनुमति देने से इन्कार कर दिया है।


B. Ed Admit Card from 6th May 2014
बीएड : प्रवेश पत्र छह मई से
झांसी। बुंदेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा के प्रवेश पत्र छह मई से भेजे जाएंगे। साथ ही सुविधा के लिए डुप्लीकेट प्रवेश पत्र नेट पर लोड रहेगा।
बीएड प्रवेश परीक्षा 2014 के लिए 2.35 लाख अभ्यर्थियों ने फार्म भरे हैं। भरे हुए फार्मों में गलतियों को सुधारा जा रहा है।

News Source / Sabhaar : Amar Ujala (22.04.2014)

72825 Teacher Recruitment : चुनाव आयोग ने 72825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया की अनुमति दी

72825 Teacher Recruitment : चुनाव आयोग ने 72825 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया की अनुमति दी

Chunav Aayog ne 72825 Shikshkon Kee Bhrtee Prakriya ke Liye Anumati Dee

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

UPTET PASS GIRL CANDIDATE can JOIN THIS GROUP : https://www.facebook.com/groups/uptetgirlsgroup/

UPTET PASS CANDIDATE can JOIN this GROUP :https://www.facebook.com/groups/uptetteachersgroup



72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order,


News Source / Sabhaar : Hindustan Paper (22.04.2014)

Chunav Aayog ne 72825 Teacher Recruitment Process ko Haree Jhandee Dee

72825 Teacher Recruitment : शिक्षक भर्ती पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की इजाजत
बेसिक शिक्षा सचिव इसी हफ्ते डायट प्राचार्यों से लेंगे तैयारियों की जानकारी







UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

UPTET PASS GIRL CANDIDATE can JOIN THIS GROUP : https://www.facebook.com/groups/uptetgirlsgroup/

UPTET PASS CANDIDATE can JOIN this GROUP :https://www.facebook.com/groups/uptetteachersgroup




72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order, 

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 72,825 शिक्षकों की भर्ती की तैयारियों के संबंध में जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) प्राचार्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए चुनाव आयोग ने अनुमति दे दी है। सचिव बेसिक शिक्षा नीतीश्वर कुमार इसी हफ्ते डायट प्राचार्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर नवंबर 2011 के विज्ञापन के आधार पर आए हुए आवेदनों के बारे में जानकारी लेंगे। इसके बाद भर्ती प्रक्रिया के संबंध में आगे की कार्यवाही की जाएगी
बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में बीएड वालों की टीईटी मेरिट के आधार पर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्ति सुप्रीम कोर्ट के 25 मार्च के आदेश के आधार पर की जानी है। सचिव बेसिक शिक्षा डायट प्राचार्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करना चाहते हैं। डायट प्राचार्यों की लोकसभा चुनाव में भी ड्यूटी लगी हुई है। इसे देखते हुए चुनाव आयोग से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की अनुमति मांगी गई थी।
मेरिट गिराकर भरी जाएंगी बीटीसी की खाली सीटें




पहले चरण की काउंसलिंग के बाद 7000 सीटें खाली रह गई थीं
शीघ्र ही आदेश जारी करने की तैयारी



लखनऊ। निजी कॉलेजों की खाली बीटीसी सीटें मेरिट गिराकर भरी जाएंगी। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) में हुई बैठक में सहमति बन चुकी है। इस संबंध में परीक्षा नियामक प्राधिकारी से विस्तृत प्रस्ताव मांगा गया है। इसके बाद रिक्त सीटों की मेरिट जारी करते हुए सीटें भरी जाएंगी। वैसे तो पहले चरण की काउंसलिंग के बाद करीब 7000 सीटें खाली रह गई थीं, लेकिन कुछ कॉलेजों को और संबद्धता मिलने के बाद यह सीटें करीब 7500 के आसपास हो जाएंगी।
प्राइमरी स्कूलों में शिक्षक भर्ती की योग्यता स्नातक व बीटीसी है। प्रदेश में सरकारी के साथ निजी कॉलेजों में भी बीटीसी कोर्स शुरू की गई है।
इस बार सामान्य महिला कला की मेरिट 205.50, विज्ञान 207.83, सामान्य पुरुष कला 200.22, विज्ञान 211.67 गई थी। इसी तरह ओबीसी की न्यूनतम 195.51, एससी 184.50, एसटी की 179.25 प्रतिशत मेरिट गई थी। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने बीटीसी की 39,657 सीटों पर प्रवेश देने के लिए कटऑफ जारी किया था। इसमें से 37,400 छात्र-छात्राओं ने 10 जिलों का विकल्प दिया और अंतिम चरण के बाद करीब 7000 सीटें खाली रह गईं। इसलिए एससीईआरटी चाहता है कि रिक्त सीटों को मेरिट गिराकर भरी जाएं। इसके लिए आदेश शीघ्र ही जारी करने की तैयारी है।
अब जारी हो सकेगा टीईटी का रिजल्ट
चुनाव आयोग ने शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) का रिजल्ट जारी करने की अनुमति दे दी है। बेसिक शिक्षा विभाग ने चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी कि हाईकोर्ट का आदेश है कि 82 अंक पाने पर आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को पास किया जाए। मौजूदा समय में 83 अंक पाने वालों को पास किया जा रहा है। चुनाव आयोग ने इस पर सहमति दे दी है।

Shiksha Mitra News : शिक्षा मित्रों के समायोजन की अनुमति से इन्कार
राज्य सरकार ने दो वर्षीय पत्राचार बीटीसी करने वाले शिक्षा मित्रों को सहायक अध्यापक के पद पर समायोजन करने के संबंध में चुनाव आयोग से अनुमति मांगी थी। आयोग ने लोकसभा चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक अनुमति देने से इन्कार कर दिया है। इसके चलते शिक्षा मित्रों के समायोजन के संबंध में चल रही तैयारियां रोक दी गई हैं।
News Source / Sabhaar : Amar Ujala (22.04.2014)

Monday, April 21, 2014

72825 Teacher Recruitment / UP-TET 2011 : टीईटी के स्पीडब्रेकर पर अटकी नियुक्तियां

 72825 Teacher Recruitment / UP-TET 2011 : टीईटी के स्पीडब्रेकर पर अटकी नियुक्तियां

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News  

UPTET PASS GIRL CANDIDATE can JOIN THIS GROUP : https://www.facebook.com/groups/uptetgirlsgroup/

UPTET PASS CANDIDATE can JOIN this GROUP :https://www.facebook.com/groups/uptetteachersgroup





 72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order, UP-TET 2011,

 यू पी टी ई टी 2011 वालों ने ऐसा कोण सा गुनाह कर दिया की वह आये दिन मीडिया द्वारा दोषी ठहराए जाते हैं
परीक्षा की व्यवस्था बेहद मजबूत थी , अभ्यर्थीयों को भी ओ एम आर की कॉपी दी गयी थी ।

लेकिन संजय मोहन के नाम पर उनको बदनाम किया जाता रहा है , हाई कोर्ट ने टेट मेरिट के पक्ष में फैसला दे दिया  और अब सुप्रीम कोर्ट ने भी
टेट मेरिट से भर्ती की हरी झंडी दे दी तो फिर यू पी टी ई टी 2011 के अभ्यर्थीयों का उत्पीड़न बंद होना चाहिए
हाई कोर्ट की ट्रिपल बेंच ने टी ई टी परीक्षा को एक अच्छी व्यवस्था माना है जो की छोटे बच्चों के लिए एक विशेष प्रकार का एप्टीट्यूड टेस्ट है ।




See News Published in Jagran : 
टीईटी के स्पीडब्रेकर पर अटकी नियुक्तियां


कानपुर : इसे बेरोजगारों का दुर्भाग्य कहा जाए या शासन की अदूरदर्शिता कि शिक्षकों की नियुक्ति में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) स्पीड ब्रेकर बन कर रह गई है। इसके चलते तकरीबन एक लाख शिक्षकों की नियुक्तियां अटकी हैं। वहीं हकीकत यह है तमाम स्कूलों अध्यापक ही नहीं हैं या एक शिक्षक के भरोसे चल रहे हैं।
राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने 2011 में प्राथमिक और जूनियर स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए टीईटी पास होना अनिवार्य कर दिया। प्रदेश सरकार अब तक तीन बार टीईटी करा चुका है परंतु इसके माध्यम से अभी तक किसी को नियुक्ति नहीं मिल पाई है। पहली टीईटी को लेकर इतनी गड़बड़ियां हुईं कि तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा निदेशक संजय मोहन सहित कई लोगों को जेल की हवा खानी पड़ी। टीईटी की मेरिट से नौकरी देने के फैसले को लेकर विवाद इतना बढ़ा कि मामला सर्वोच्च न्यायालय तक पहुंचा। अब सरकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने की कोशिश में है तो कई पेंच फंसे हुए हैं, जिससे नियुक्तियां अटकी हुई हैं। जूनियर टीईटी को लेकर भी यही स्थिति है। 2012 में गणित व विज्ञान शिक्षकों की भर्ती का विज्ञापन निकला। हजारों टीईटी पास अभ्यर्थियों ने आवेदन किया परंतु उसको लेकर भी विवाद हुआ और नियुक्तियां ठहर गई। तीसरी टीईटी इस साल फरवरी में कराई गई पर लोकसभा चुनाव के चलते परिणाम अभी नहीं आया है। भर्ती की प्रतीक्षा कर रहे लाखों निराश अभ्यर्थी कहते हैं कि टीईटी से पहले अच्छा था, तब बीटीसी करते ही नौकरी मिल जाती थी, साथ ही विशिष्ट बीटीसी का भी रास्ता खुला था।
टीईटी का सफरनामा
पहली टीईटी : अक्टूबर 2011
दूसरी टीईटी : जून 2013
तीसरी टीईटी : फरवरी 2014

-------
प्रतीक्षित नियुक्तियां
प्राथमिक शिक्षकों की : 72,825
जूनियर शिक्षकों की : 29,000
प्रदेश में खाली पद : 2.75 लाख

-----
कहां कहां जरूरी टीईटी
सरकारी, सहायता प्राप्त बेसिक व प्राथमिक स्कूल, जूनियर स्कूल, मदरसा, समाज कल्याण विद्यालयों से संबद्ध प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक पदों पर भर्ती के लिए प्राथमिक/जूनियर/भाषा टीईटी की अर्हता अनिवार्य है।
-----
शिक्षकों की नियुक्तियों को लेकर प्रदेश सरकार उदासीन है। इसीलिए मामले को उलझाने व टालने की कोशिशें हो रही हैं। सरकार को एक विशेष सेल बनाकर नियुक्तियां करने का प्रयास करना चाहिए।
-राज बहादुर सिंह चंदेल, शिक्षक विधायक


News Source / Sabhaar : Jagran (Monday,Apr 21,2014 07:08:41 PM)

Last Date Extended for Technical Posts MTS-E III and MTS-E II in STPI

Sarkari Naukri Damad India. Latest Upadted Indian Govt Jobs - http://sarkari-damad.blogspot.com
SOFTWARE TECHNOLOGY PARKS OF INDIA (STPI)
(An Autonomous Society under Department of Information Technology
Ministry of Communications & IT, Govt. of India)
Electronics Niketan, 6, CGO Complex, Lodhi Road, New Delhi-110003

Advertisement No. 6(4)/2014-STPI

*********
Last Date Extended
                                               ********


Applications are invited from the eligible candidates for filling up various group ‘A’ vacancies by Transfer (absorption) failing which by Direct Recruitment basis. Appointment made on Direct Recruitment basis shall be on contract basis for a period of three years which is likely to be regularized/ extended/ terminated depending upon the performance of the candidate during contract service :

  1. Member Technical Staff E-III (Scientist ‘D’) : 07 posts (UR-3, OBC-3, ST-1), Pay Scale : PB-3 Rs. 15600 - 39100 GP Rs.7600/-
  2. Member Technical Staff E-II (Scientist ‘C’) : 06 posts (UR-4, OBC-1, SC-1), Pay Scale : PB-3 Rs.15600-39100 GP-6600/-, Age : 35 years
How to Apply : Apply online at STPI website on or before 20/04/2014 now extended up to 30/04/2014 only. Print out of the system generated application format should be send on or before 30/04/2014  now 15/05/2014 (10/05/2014 now 25/05/2014 for candidates from far-flung areas) to the Senior  Administrative Officer, Software Technology Parks of India, Electronics Niketan, 9th floor, NDCC-II, Jai Singh Marg, New Delhi - 110001 alongwith an application fee of Rs. 500/- per application by Demand Draft in favour of ‘Software Technology Parks of India’, payable at New Delhi. No fee is required to be paid by candidates belonging to SC/ST/PH category..

Export Inspection Council (EIC) of India

Sarkari Naukri Damad India. Latest Upadted Indian Govt Jobs - http://sarkari-damad.blogspot.com
Export Inspection Council (EIC) of India
(Ministry fo Commerce & Industry, Government of India)
New Delhi YMCA Cultural Centre Building, 1, Jai Singh Road, New Delhi - 110001


Export Inspection Council of India, the official export inspection and certification body established under Export (Quality Control & Inspection) Act, 1963 by the Government of India, invites applications from Indian citizens for appointment to the following posts :

  1. Assistant Director : 09 posts , Age - 25 to 35 years
  2. Technical Officer : 04 posts, Age - 25 to 35 years
  3. Jr. Scientific Assistant : 02 posts, Age - 20 to 30 years
  4. Laboratory Assistant Gr.II : 01 post, Age - 18 to 25 years
  5. Office Assistant : 02 posts, Age - 20 to 30 years
  6. Accountant : 01 post, Age - 20 to 30 years
  7. Stenographer Gr.II : 01 post, Age - 18 to 25 years
  8. Laboratory Attendant : 02 posts, Age - 18 to 25 years
  9. Peon / MTS : 01 post, Age - 18 to 25 years
How to Apply : The Candidates should apply Online at EIC website and take a printout of the system generated application form and send it after affixing their signature along with a Demand Draft / Pay Order for Rs.500/- towards application fee (for each post separately) drawn in favour of ‘Export Inspection Council of India’ payable at Delhi and self - attested copy of educational qualification, experience, Caste certificate, PWD certificate, etc.., to the Director, Export Inspection Council of India, 3rd Floor, NDYMCA Cultural Centre Building, 1 Jai Singh Road, New Delhi - 110 001 on or before 29/04/2014.

72825 Teacher Recruitment : भर्ती नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी

72825 Teacher Recruitment : भर्ती नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी

UPTET  / टीईटी / TET Teacher Eligibility Test Updates / Teacher Recruitment News 


 72825 Teacher Recruitment, Counseling of 72825 Teacher as per Supreme Court Order


एटा (ब्यूरो)। अध्यापक पात्रता परीक्षा (टेट) संघर्ष मोर्चा की बैठक रविवार को जीटी रोड स्थित शहीद पार्क में हुई। पदाधिकारियों ने प्रदेश सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अमल न करने पर रोष जताया। साथ ही समय से शिक्षकों की भर्ती न करने पर राज्य सरकार के खिलाफ आंदोलन करने की चेतावनी दी। जिलाध्यक्ष मयंक तिवारी ने कहा कि 25 मार्र्च को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में टेट मेरिट को चयन का आधार बताया। इसी आधार पर ही राज्य सरकार को 12 सप्ताह (84 दिन) में शिक्षकों की भर्ती का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि आदेश को 25 दिन बीत चुके हैं, लेकिन अब तक राज्य सरकार ने भर्ती संबंधी कोई शासनादेश जारी नहीं किया। बैठक में जिला संयोजक तपेश कुमार, ज्ञानेंद्र वीर, अजीत यादव, नवीन चतुर्वेदी, विजय सक्सेना, तौफीक आलम मौजूद थे


News Source / Sabhaar : Amar Ujala (21.04.2014)

टीचर भर्ती के फार्म भरने का अंतिम मौका आज

टीचर भर्ती के फार्म भरने का अंतिम मौका आज

कानपुर। प्रदेश के राजकीय, अनुदानित डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति के लिए सोमवार तक आनलाइन फार्म भरे जा सकेंगे। उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग ने इस बार 1652 टीचर्स की नियुक्ति का विज्ञापन निकाला है।
असिस्टेंट प्रोफेसर के सभी पद रिटेन टेस्ट और इंटरव्यू के बाद भरे जाएंगे। 200 मार्क्स का जनरल नॉलेज और सब्जेक्ट का आब्जेक्टिव पेपर कराया जाएगा। 30 मार्क्स का इंटरव्यू होगा। रिटेन टेस्ट जून में कराए जा सकते हैं।
इंटरव्यू जुलाई में संभव है। आयोग ने यह प्रक्रिया इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद शुरू किए हैं। उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग के सचिव ने बताया कि सब्जेक्ट के हिसाब से असिस्टेंट प्रोफेसर के नियुक्ति की अर्हता रखी गई है। सभी की अर्हता परास्नातक में 50 या 55 फीसदी मार्क्स के साथ पास होना अनिवार्य है। इससे कम मार्क्स पर आवेदन पत्र मान्य नहीं होगा। इसके साथ पीएचडी, नेट, क्लेट और जेआरएफ करने वालों को वरीयता दी जाएगी

News Source / Sabhaar : अमर उजाला (21.04.2014)

Arvind Kejriwal and Corruption in India

 Vichhar : Arvind Kejriwal and Corruption in India

अरविन्द केजरीवाल की नाकामी ने ही मोदी को बढ़त दी है वरना एक समय सारी जनता इस भ्रष्ट व्यवस्था से लड़ने के लिए उठ खड़ी हुई थी
और अन्ना टीम के साथ जम कर सहयोग किया था


हिंदुस्तान में जनता भ्रस्टाचार से पीड़ित है और आज भी ब्रिटिश हुकूमत एक नए अंदाज - काले अंग्रेजों के रूप में कायम है

सरकारी कर्मचारी इन काले अंग्रेज / अधिकारियों  के प्रति जवाब देह हैं न की जनता के प्रति
क्यूंकि सारी लगाम (प्रमोशन , ट्रांसफर , बिल पास करना , फर्जी हाजिरी को जायज करना इत्यादि ) इन काले अंग्रेजों के हाथ में है तो आम जनता से इनका क्या मतलब

केजरीवाल की विचारधारा बहुत ही अच्छी थी , लेकिन उनकी नियत के प्रति लोगों के मन में डर बैठ गया , जिसके कुछेक कारण निम्न हैं -

१. जिस कांग्रेस के खिलाफ केजरीवाल दिल्ली में लड़कर चुनाव जीते और ऐसी किसी पार्टी से  समर्थन न लेने और न देने की बात कही । फिर बाद में
उसी कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना ली।  इस से बहुत गलत सन्देश गया

२. बिजली के बिल न भरने वालों को 50 % सब्सिडी की घोषणा करना , जबकि बहुत से लोगों ने बिजली का पूरा बिल भरकर शुल्क जमा किया
इस से भी गलत सन्देश गया ।
उपरोक्त मामला कोर्ट गया , और पी आई एल में कहा गया की जिन लोगों ने बिजली का बिल नहीं अदा किया था उनको दंड की जगह इनाम दिया जा रहा है
कोर्ट ने फिलहाल ऐसी सब्सिडी पर रोक लगा दी
मेरा मानना है कि सब्सिडी दी भी जानी चाहिए तो सभी उपभोक्ताओं को दी जानी चाहिए 


३. केजरीवाल के मंत्री सोमनाथ भारती , राखी बिड़लान की करतूतों पर केजरीवाल ने कोई सफाई नहीं दी ।
जैसा की टी वी न्यूज़ में दिखाया गया - सोमनाथ भारती पतंग उड़ा  रहे  थे और दस्त का बहाना बना कर महिला आयोग नहीं गए ।
उच्च पदों पर आसीन व्यक्तियों से श्रेष्ठ व्यवहार की अपेक्षा होती है और अगर ऐसे व्यक्ति बहाने बजी जैसा काम करंगे तो फिर आम आदमी
से क्या अपेक्षा करी जाएगी ।

राखी बिड़लान की कार  का शीशा बच्चे की गेंद द्वारा टूटने और बच्चे द्वारा माफी मांग लेने के बावजूद भी ऍफ़ आई आर दर्ज कराना समझ से परे था
राखी बिड़लान विधान सभा के पहले दिन ऑटो से पहुँची और उसके अगले दिन टयोटा - इनोवा गाड़ी से पहुँची , उसके बाद आम आदमी पार्टी की उनकी
अलग परिभाषा है ।
और अभी हाल ही में राखी बिड़लान ने लाइन तोड़कर वोट डाला

ये सभी कृत्य दुखद हैं और लगता है आम आदमी पार्टी में बहुत से लोग सत्ता लाभ के लिए शामिल हो गए हैं

४. केजरीवाल कश्मीर पर बोलने से  कतराते रहे जबकि  उनकी  पार्टी के सदस्य प्रशांत भूषण कश्मीर में वोटिंग के जरिये कश्मीर को देश से स्वतंत्र करने की बात कह रहे थे ।
देश की अखंडता और मजबूती के लिए देश को एक बनाये रखना जरूरी है अन्यथा देश में सभी जाती , धर्म , क्षेत्र , भाषा के लोग वोटिंग के जरिये देश
से अलग होने की मांग करने लगेंगे और देश छोटे छोटे टुकड़ों में टूट जाएगा और शत्रु देश आसानी से हावी होने लगेंगे ।
कश्मीरवासयिों की समस्या का निदान करें न की देश की अखंडता को खतरे में डालें ।
बाद में केजरीवाल ने कहा की में प्रशांत भूषण के बयान  से सहमत नहीं हूँ , लेकिन इस बीच लोगों ने केजरीवाल को सोशल मीडिया पर उनकी छवि
को धो डाला , साथ ही केजरीवाल को प्रशांत भूषण के  बयान से   असहमत होने में बहुत देर लगी

५. आजकल लोग कह रहे हैं की केजरीवाल का विरोध सिर्फ नरेंद्र मोदी से रह गया है जबकि पहले कांग्रेस के भ्रस्टाचार के पीछे पड़े रहते थे ,
साथ ही देश के अन्य पार्टियों की उनको बुराई नहीं दिखती

बहुत सारी बातें हैं जिस से लगता है की केजरीवाल ने आम आदमी का मुखोटा लगाया लेकिन वह आम आदमी की नजरों में अभी खरे नहीं उतर सके हैं ,
उनकी आम आदमी पार्टी जल्द बाजी  में बनी है और उसमें बहुत से सत्ता के लालची लोग भी शामिल हो गए हैं

जनता से यही कहने चाहेंगे कि - वह योग्य (पढे लिखे व् अच्छे एजुकेशनल क़्वालिफिकेशन ) व अच्छे (समाज सेवी , जनता के प्रति अच्छे कार्य करने वाले ) उम्मेदवार को जिताएं

अंत में कहना चाहेंगे की - देश के नागरिकों को अधिक से अधिक स्वतंत्रता व साफ़ सुथरी व्यवस्था मिलनी चाहिए ।  आज तमाम आर टी आई एक्टिविस्टों को तकलीफों से गुजरना पढ़ता है और कभी कभी अपनी जान से हाथ धोना पढ़ता है । देश के न्यायलय में फैसले सालों में होते हैं और कई बार सारी जिंदगी  है न्याय पाने के लिए ,
इसलिए देश के नागरिकों के लिए जनलोक पाल जरूरी है

Sunday, April 20, 2014

Basic Shiksha UP News : हेड मास्टर लिखेंगे शिक्षकों का सीआर : छुट्टियां मंजूर करने का भी मिलेगा अधिकार

Basic Shiksha UP News : हेड मास्टर लिखेंगे शिक्षकों का सीआर : छुट्टियां मंजूर करने का भी मिलेगा अधिकार
*******************

ब्लॉग संपादक के विचार :
देश में भ्रस्टाचार बढ़ा हुआ है , इसलिए स्कूल शिक्षकों की गोपनीय रिपोर्ट और हाजिरी आदि किसी थर्ड पार्टी को दे देनी चाहिए
जो स्कूल के हेड मास्टर , खंड शिक्षा अधिकारियों अधिकारियों और सभी की समय बद्ध हाजिरी को जांच सके और बच्चों की शिक्षा की समीक्षा कर सके ।
आज छोटी छोटी दुकानों में सी सी टी वी कैमरे लगे हुए हैं तो स्कूलों , दफ्तरों में भी इनको लगाया जाना चाहिए

 *********************
 See News of Amar Ujala :
 हेड मास्टर लिखेंगे शिक्षकों का सीआर : छुट्टियां मंजूर करने का भी मिलेगा अधिकार
    खंड शिक्षा अधिकारियों का खत्म होगा दखल
    इससे शिक्षण व्यवस्था में सुधार होगा
    हेड मास्टरों की जवाबदेही भी तय हो जाएगी

लखनऊ। परिषदीय स्कूल के हेड मास्टरों के पास भी विभागाध्यक्षों की तरह अधिकार होंगे। वे अपने अधीनस्थों की छुट्टियां मंजूर करने के साथ उनका कैरेक्टर रोल (सीआर) भी लिखेंगे। यह जिम्मेदारी अभी तक खंड शिक्षा अधिकारियों के पास है। इसके चलते शिक्षकों को परेशानियों से दो-चार होना पड़ता है। बेसिक शिक्षा परिषद चाहती है कि परिषदीय स्कूलों के हेड मास्टरों को इतना अधिकार दे दिया जाए कि अपने स्तर पर वे ही स्कूल चलाएं। इससे शिक्षण व्यवस्था में सुधार तो होगा ही, हेड मास्टरों की जवाबदेही भी तय हो जाएगी। उच्चाधिकारियों की बैठक में इस संबंध में सहमति बन चुकी है, बेसिक शिक्षा परिषद को इसके आधार पर प्रस्ताव भेजा जाना है। प्रस्ताव मिलने के बाद शासन स्तर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया जाएगा।

प्रदेश में बेसिक शिक्षा का बहुत बड़ा दायरा है। इसके अधीन 1,54,272 प्राइमरी और 76,782 उच्च प्राइमरी स्कूल हैं। प्राइमरी में 1,85,729 तथा उच्च प्राइमरी में 1,06,089 शिक्षक हैं। इन स्कूलों में करीब सवा दो करोड़ बच्चे पढ़ते हैं। परिषदीय स्कूलों में मानक के अनुसार शिक्षक नहीं हैं। इसके चलते कम शिक्षकों के सहारे काम चलाया जा रहा है। इस स्थिति में हेड मास्टर से मंजूर कराए बिना यदि शिक्षकों ने छट्टी ले ली तो स्कूलों में पढ़ाई प्रभावित होती है। इसलिए उच्चाधिकारियों की बैठक में इस पर विचार-विमर्श किया गया कि स्कूल के हेड मास्टर को यदि छुट्टी मंजूर करने और सीआर लिखने का अधिकार दे दिया जाए तो उनके अधीन काम करने वाले शिक्षक मनमानी नहीं कर पाएंगे। शिक्षक उनसे डरेंगे और उनकी अनदेखी नहीं कर पाएंगे। अभी खंड शिक्षा अधिकारियों के पास यह अधिकार होने की वजह से शिक्षक हेड मास्टरों को अधिक अहमियत नहीं देते हैं। इसलिए वे चाहकर भी स्कूल की शिक्षा व्यवस्था में सुधार नहीं ला पाते। इस व्यवस्था के लागू होने के बाद खंड शिक्षा अधिकारियों के पास शिक्षकों के वेतन और निरीक्षण संबंधी काम ही रह जाएगा। खंड शिक्षा अधिकारी यह बहाना नहीं बना पाएंगे कि काम अधिक होने से वे स्कूलों का निरीक्षण नहीं कर पाते हैं

News Source / Sabhaar : Amar Ujala (19.04.2014)