/* remove this */ Blogger Widgets /* remove this */

Monday, May 6, 2013

UP 2nd / Second Cut-off Merit List Announced / Counseling in 2nd Week of May 2013

UP 2nd / Second Cut-off Merit List Announced / Counseling in 2nd Week of May 2013

UP Anudeshak Cutoff list Merit List Instructor District wise Vacancy 2013

Total 41037 posts of instructor, And many of them unfilled.


2nd list for up Anudeshak counselling round cutoff

 1st round counselling of Anudeshak already conducted



See Second Cutoff Merit List for Counselling -

Anudeshak Cutoff Merit List Balia -

Anudeshak Cutoff Merit List Farrukhabad -


Anudeshak Cutoff Merit List Koshambi -

Anudeshak Cutoff Merit List Merrut -






12 comments:

  1. अभी नेट पर पाकिस्तानी न्यूज चैनल जियो न्यूज देख रहा था उसमे एक पाकिस्तानी ने कवी अपनी कवितामें भारत को पांच बार भूखो नंगों का देश कहा ...और भगवान राम के बारे में कई अपशब्द कहे ...
    अब अगर में उस पाकिस्तानी के खिलाफ कुछ लिख दूं तो हमारे कुछ हिंदू भाई बहन के कमेन्ट कुछ इस प्रकार होंग
    शर्म आणि चाहिए admin तुम्हे दो देशो के बिच नफरत फैलाते हो
    दोस्तों इस पेज को unlike करो ये admin धर्म के नाम पर आपस में लडवा रहा है
    तुम क्या admin इस देश के ठेकेदार हो
    ये गलत है admin दूसरों की इज्जत करना सीखो हिंदू धर्म ये नहीं सिखाता
    अबे एडमिन अपनी जुबान सम्हाल के बात कर तेरे जैसे लोगों की वजह से ही आज देश में चारों तरफ अशांति है
    एडमिन तेरी @@ की साले पाकिस्तान ने तेरा क्या बिगाड़ा है
    हम सब भाई भाई हैं ....
    इस तरह की नफरत फैला कर तुम्हे क्या मिलेग
    ाadmin this is wrong yaar same on u admin
    धन्य है मेरा देश .....भाई आप लोग सब समझदार हैं .....हम(Admin) ही बेवकूफ

    ReplyDelete
  2. TET MERIT VS ACCD MERIT-:
    Tet merit hogi niyukti ka adhar Yeh baat exam se pahle bata di gayi thi agar na bhi batayi jati aur exam karane ke baad bhi ek baar 72825 padon ke liye base tet merit kardi jati aur new govt unhi pado par dobara add nikalkar base accd merit kar deti (jo ki ho chuka) tab bhi un padon par tet merit hi lagu hoti (jo hona nishchit he) but after fight against new govt and ne add
    agar apni jeet ko aur paas se dekhna he aur koi bhram ho toh please 4 feb. Ka order dekhein aur khush rahein tatha dherrey banaye rakhein hamein apne tet fighters par pura bharosa he
    jay hind
    jay tet merit
    jay tet fighter
    SATYAMEV JAYATE

    ReplyDelete
  3. संविधान पीठ का निर्णय इसी हफ्ते आने की पूरी संभावना है,,8,9 या 10 को किसी भी दिन ,,,, लेकिन यदि शुक्रवार तक निर्णय किसी वजह से नहीं भी आ पाता है तो इसका यह मतलब नहीं कि किसी को गुमराह करने या झूठी तसल्ली देने का प्रयास किया है,,उन्होंने अपनी ओर से पूरा ईमानदारी से सही सूचना देने का प्रयास किया है ,,जैसा कि वो पूर्व में भी करते रहे हैं और हमेशा सही सूचना ही दी है ,,,, हाँ उन्होंने निर्णय आने की प्रक्रिया में सुजीत भाई ने जो प्रगति बताई है उसके आधार पर यह तो निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि फैसला किसी वजह से अगर इस हफ्ते ना भी आ पाया तो अगले हफ्ते निश्चित रूप से आ जाएगा,,,,, जहाँ इतने दिनों तक धैर्य रखा है कुछ दिन और रखें,,, अधीर होने से कुछ हासिल नहीं होने वाला,,,,,,,,

    ReplyDelete
  4. केवल यू.पी में ही टेट मेरिट से भर्ती होने जा रही है ,,,,

    सपा के चाहने से कुछ होता तो सबसे पहला काम वो स्टे हटवाने का करती

    ReplyDelete
  5. sunil bhatt G



    ...............muje badi khudhi hai jab meri wajah se khushi milti hai




    thanks bhai

    ............your ek brother

    ReplyDelete
  6. आज मीडिया बड़ी धूमधाम से ये खबर
    दिखा रही है कि चीन की सेना पीछे जा रही है... लेकिन
    कितनी ये
    कोई नहीं बता रहा है, नही कोई ये बता रहा है भारत
    की सेना भी १५ किलोमीटर पीछे आ रहे है, लेकिन
    क्यों? जब चीन
    १९ किलोमीटर भारत भूमि के अंदर अ चूका है और
    वहा से भारत
    ... की सेना १५ किलोमीटर पीछे जा रही है
    तो इसका सीधा-
    सा अर्थ है कि भारत ने अपनी (१९+१५)कूल ३४
    किलोमीटर
    भूमि खो दी है| लेकिन इस वास्तविकता को बताने
    या समझाने के
    स्थान पे ये मीडिया कांग्रेसीयों के गुणगा रही है और
    कह
    रही है कि भारत की कूटनीति कामयाब रही| थू है
    ऐसी कूटनीति पे, ऐसी सरकार पे …… सीधा सा प्रश्न
    है कि जब लद्दाख का दौलत बेग
    ओल्डी (डीबीओ) भारत का सामरिक रूप से अत्यंत
    ही महत्वपूर्ण एवं सवेंदनशील क्षेत्र है तो फिर
    क्यों भारत
    की सेना वहा से वापस पीछे आ रही है? पूरा विश्व
    जनता है के
    चीन की घुसपैठ का एक मात्र उदेश्य
    भारतीयसेना को दौलत बेग
    ओल्डी (डीबीओ) से पीछे धकेलना था तो फिर किस
    आधार पे
    सरकार अपनी छाती चौडी कर रही है और केह रही हैं
    कि चीन की सेना पीछे जा रही है…!!!!
    शर्म करो …. शर्म करो…. थू है ऐसी कूटनीति पे,
    ऐसी सरकार पे …..

    ReplyDelete
  7. पहले संविधान पीठ क आदेश आ जाने दें,,,, जब 2011-12 वालों को बाहर करवाने के लिए रिट डाली गई थी तब सरकार ने उनको शामिल करने के पक्ष में कोर्ट में कहा था कि डबल बेंच का आदेश नॉन टेट वालों को नए विज्ञापन में शामिल होने की छूट दे रहा है इसलिए इस बात से कोई फर्क नहीं पडता कि 2011-12 बैच के जिन लोगों का टेट 2011 का प्रमाण पत्र इस वजह से अविध है कि उन्होंने उस वक्त परीक्षा फ़ार्म भी नहीं भरा था ,,,,,जैसे ही संविधान पीठ का आदेश आएगा उस रिट को डालने वाले लोग अपनी रिट को रिवीजन में डालेंगे और नए विज्ञापन से 2011-12 वाले बाहर हो जायेंगे,,, लेकिन इसका फर्क तब पड़ेगा जब सरकार नए विज्ञापन के लिए नवीन पदों के सृजन हेतु कोर्ट से समय मांगते हुए नए विज्ञापन को पद शून्य करके फ्रीज करने का आग्रह करेगी,,,अन्यथा नया विज्ञापन स्वयं ही शून्य हो जाएगा और उसकी फीस वापसी कका आदेश हो जाएगा ,,,कोर्ट अपनी ओर से नए विज्ञापन को पद शून्य होते हुए भी जीवित नहीं छोड़ सकती,,इसके लिए सरकार को फैसला होने से पूर्व ही आग्रह करना होगा,,अर्थात सरकार को कोर्ट के सामने समर्पण करना होगा,,,,,,

    ReplyDelete
  8. Aap ek sher h isi tarah daharte rahe.ye baagi ballia ka ek sher aapke sath h.Jai hind.

    ReplyDelete
  9. Tet merit wala poori tarah feku hai

    ReplyDelete
  10. @rizwan ya to tark de nhi to muh chodi na kare....

    ReplyDelete
  11. tet merit nhi to bhari nhi...hmm. mujhe aap ke comments behad pasand h.i wanna know k aap ko pakistan n china k bare me ye sb pta kahan se chalta h???waise hmari soch bilkul ek jaisi h.posta k liye thnx

    ReplyDelete

Please do not use abusive/gali comment to hurt anybody OR to any authority. You can use moderated way to express your openion/anger. Express your views Intelligenly, So that Other can take it Seriously.
कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय अभद्र शब्द या भाषा का प्रयोग न करें। अभद्र शब्दों या भाषा का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। टिप्पणी लेखक का व्यक्तिगत विचार है और इसका संपादकीय नीति से कोई संबंध नहीं है। प्रासंगिक टिप्पणियां प्रकाशित की जाएंगी।